Saturday, January 28, 2023
Home Daily Diary News बिहार में RJD को बड़ा झटका कद्दावर नेता रघुवंश प्रसाद ने लालू...

बिहार में RJD को बड़ा झटका कद्दावर नेता रघुवंश प्रसाद ने लालू को भेजा इस्तीफा

पटना: बिहार विधानसभा चुनाव से पहले आरजेडी को बड़ा झटका लगा है. लंबे समय से पार्टी से नाराज चल रहे आरजेडी के कद्दावर नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने गुरुवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. दरअसल, रघुवंश प्रसाद सिंह पार्टी में रामा सिंह की एंट्री और तेजस्वी यादव के मनमाने रवैये से काफी समय से नाराज चल रहे थे।
काफी दिनों से उनका मन-मनौवल भी किया जा रहा था, लेकिन आखिरकार उन्होंने पार्टी से इस्तीफा दे दिया. दिल्ली ऐम्स में भर्ती रघुवंश प्रसाद ने इस संबंध में खुद अपने हाथों से लालू यादव को पत्र लिखकर सूचित किया है. बता दें कि आरजेडी को अगड़ी जाति में सबसे ज्यादा सपोर्ट राजपूत समाज से है और रघुवंश प्रसाद सिंह बड़े राजपूत नेता हैं।
कोरोना की चपेट में आए आरजेडी नेता रघुवंश प्रसाद सिंह दिल्ली ऐम्स में भर्ती हैं, और वहीं से उन्होंने आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को अपने हाथों से पत्र लिख कर इस्तीफा देने की सूचना दी है। रिम्स रांची के पते पर लिखे पत्र में उन्होंने लिखा है कि जननायक कर्पूरी ठाकुर के निधन के बाद मैं 32 वर्षों तक आपके पीठ पीछे खड़ा रहा. लेकिन अब नहीं. पार्टी नेता, कार्यकर्ता और आमजनों ने काफी स्नेह दिया, मुझे क्षमा करें
इधर, रघुवंश प्रसाद सिंह के आरजेडी से इस्तीफा देने पर जेडीयू प्रवक्ता राजीव रंजन ने रिएक्ट करते हुए कहा कि रघुवंश बाबू का इस्तीफा आरजेडी के ताबूत में आखिरी कील है. जिस दमघोंटू वातावरण में वो खुद को असहज महसूस कर रहे थे, उसकी परिणति यही होनी थी. अंततः उन्होंने दलदल से निकलने का फैसला किया और यह निर्णय स्वागत योग्य है।
इधर, भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी ने रघुवंश प्रसाद सिंह के आरजेडी से इस्तीफा दिए जाने पर कहा कि बहुत दिनों से पार्टी के अंदर घुटन महसूस कर रहे थे और उनका कोई निजी कारण रहा होगा, जिस कारण उन्होंने इस्तीफा दिया. ऐसे में अब आरजेडी सिर्फ परिवार की पार्टी रह गई है, वो जनता की पार्टी नहीं है. जेडीयू में शामिल होने संबंध में उन्होंने कहा कि यह तो उनका व्यक्तिगत फैसला है कि उन्हें कहां जाना है।
लोकसभा में JDU संसदीय दल के नेता मुंगेर सांसद ललन सिंह ने कहा कि रघुवंश बाबू बिहार के एक सम्मानित और पुराने समाजवादी नेता हैं. आरजेडी बिहार के सम्मान की बात करती है लेकिन रघुवंश बाबू जैसे धरोहर का भी सम्मान नहीं कर सकी. धनोपार्जन ,धन की उगाही, पार्टी टिकट बेचने वाली पार्टी किसी धरोहर का सम्मान कर भी नहीं सकती. वैसी पार्टी में किसी को सम्मान मिलेगा यह सोचना भी बेमानी है।

RELATED ARTICLES

आजादी की‌ अमृत गाथा के 119वें संस्करण में जुटे लोगों ने महापुरुषों की स्मृति को नमन् कर सकारात्मक जीवन का लिया संकल्प

नई दिल्ली। भारत सरकार के आजादी का अमृत महोत्सव की कड़ी में 74वें गणतंत्र दिवस के अवसर राम जानकी संस्थान, आरजेएस और आरजेएस पॉजिटिव...

गणतंत्र दिवस महोत्सव में दर्जन भर आरजेएसियन्स ने आगामी आजादी की अमृत गाथा आयोजित करने की घोषणा की।

नई दिल्ली। भारत सरकार के आजादी का अमृत महोत्सव की कड़ी में 74वें गणतंत्र दिवस के अवसर राम जानकी संस्थान, आरजेएस और आरजेएस पॉजिटिव...

गणतंत्र दिवस पर आरजेएसिएन्स सह-आयोजकों‌ की आजादी की‌ अमृत गाथा का फरवरी 2023 एडिशन्स लांच

नई दिल्ली।‌अगले वित्त वर्ष 2023 के लिए आम बजट या कहें‌ केंद्रीय बजट 2023 वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 1 फरवरी को पेश करेंगी. राम जानकी...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

आजादी की‌ अमृत गाथा के 119वें संस्करण में जुटे लोगों ने महापुरुषों की स्मृति को नमन् कर सकारात्मक जीवन का लिया संकल्प

नई दिल्ली। भारत सरकार के आजादी का अमृत महोत्सव की कड़ी में 74वें गणतंत्र दिवस के अवसर राम जानकी संस्थान, आरजेएस और आरजेएस पॉजिटिव...

गणतंत्र दिवस महोत्सव में दर्जन भर आरजेएसियन्स ने आगामी आजादी की अमृत गाथा आयोजित करने की घोषणा की।

नई दिल्ली। भारत सरकार के आजादी का अमृत महोत्सव की कड़ी में 74वें गणतंत्र दिवस के अवसर राम जानकी संस्थान, आरजेएस और आरजेएस पॉजिटिव...

गणतंत्र दिवस पर आरजेएसिएन्स सह-आयोजकों‌ की आजादी की‌ अमृत गाथा का फरवरी 2023 एडिशन्स लांच

नई दिल्ली।‌अगले वित्त वर्ष 2023 के लिए आम बजट या कहें‌ केंद्रीय बजट 2023 वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 1 फरवरी को पेश करेंगी. राम जानकी...

युवामंथन संस्थानो में G20 आयोजनो के लिए कैंपस शेरपा बनाने की तलाश कर रहा है|

इस समय पूरे विश्व में भारत का एक अलग ही डंका गूँज रहा है, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत दिन प्रतिदिन नई...

Recent Comments