Saturday, January 15, 2022
Home National भारतीय वायुसेना के 88वें स्थापना दिवस पर भारतीय वायुसेना ने आसमान में...

भारतीय वायुसेना के 88वें स्थापना दिवस पर भारतीय वायुसेना ने आसमान में गजब की कलाबाजियां दिखाईं

LAC पर पिछले पांच महीने से चीन से चल रहे टकराव के बीच मौजूदा सुरक्षा परिदृश्य में एक मजबूत वायुसेना की बेहद आवश्यकता है. ये कहना है वायुसेना प्रमुख एयरचीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया का. भदौरिया आज राजधानी दिल्ली के करीब हिंडन एयरबेस पर वायुसैनिकों को संबोधित कर रहे थे. मौका था 88वें वायुसेना दिवस का.

वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया के मुताबिक, युद्ध के सभी ‘स्पेक्ट्रम’ में लड़ने के लिए एक सशक्त वायुसेना की सख्त आवश्यकता है. इसलिए इस दशक (2020-30) के लिए भारतीय वायुसेना का विजन है अपनी युद्धक-क्षमताओं को लगातार बढ़ाना ताकि हर क्षेत्र में एयरफोर्स का वर्चस्व हो.

आरकेएसभदौरिया ने इस मौके पर वायुसैनिकों की सराहना करते हुए कहा कि हाल ही में नार्दन-फ्रंटियर पर चल रहे स्टैंड-ऑफ (चीन सीमा पर टकराव) के दौरान जिस तरह से थलसेना के साथ मिलकर वायुसेना ने त्वरित कारवाई की वो बेहद ही काबिले-तारीफ है|

आरकेएस भदौरिया ने कहा कि इस दौरान हमने साफ तौर से अपनी युद्ध-क्षमताओं के साथ साथ जरूरत पड़ने पर दुश्मन से लोहा लेना के प्रति अपनी प्रतिबद्धता का प्रदर्शन करके दिखाया है. आपको बता दें कि सोमवार को ही वायुसेनाध्यक्ष ने कहा था कि वायुसेना टू-फ्रंट वॉर यानि चीन और पाकिस्तान से एक साथ मोर्चा लेने के लिए पूरी तरह तैयार है|

हाल ही में चीन से टकराव के दौरान जिस तरह वायुसेना ने बेहद तेजी से अपने फ्रंटलाइन एयरक्राफ्ट्स रफाल, सुखोई, मिग29, मिराज-2000 और तेजस को तैनात किया और अपने ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट्स (सी-17 ग्लोबमास्टर, सी130 जे सुपरहरक्युलिस, आईएल-76 और चिनूक हेलीकॉप्टर्स) से सैनिकों और सैन्य साजो सामान को चीन सीमा के करीब पहुंचाया उससे चीन भी भौचक्का रह गया था|

RELATED ARTICLES

गंगा सेवा समिति और ब्रह्मराष्ट्र एकम द्वारा मकर संक्रांति पर किया गया अन्नदान महादान

  सनातन धर्म मे मान्यता अनुसार मकर संक्रांति के पावन पर्व पर आज का दान एक ऐसा कार्य है, जिसके जरिए हम न केवल धर्म...

Galgotias University ने शोध और नवाचार में उत्कृष्ट योगदान के लिये शिक्षकों और शोधार्थियों का किया सम्मान

गलगोटिया विश्वविद्यालय के अंतर्गत संचालित यूनिवर्सिटी सेंटर ऑफ रिसर्च एंड डेवलपमेंट द्वारा 11 जनवरी, 2022 को द्वितीय शोध एवं नवाचार पुरस्कार समारोह का आयोजन...

प्रांतीय ब्राह्मण सम्मेलन में बोले- पंडित सुनील भराला “जो ब्राह्मण हित में कार्य करेगा वही राज्य में राज करेगा”

गाजियाबाद: पंडित सुनील भराला  ने  कहा कि उत्तर प्रदेश देश का एक विशाल राज है यहां रहने वाले पदाधिकारी को अपने राज्य में महत्वपूर्ण...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

गंगा सेवा समिति और ब्रह्मराष्ट्र एकम द्वारा मकर संक्रांति पर किया गया अन्नदान महादान

  सनातन धर्म मे मान्यता अनुसार मकर संक्रांति के पावन पर्व पर आज का दान एक ऐसा कार्य है, जिसके जरिए हम न केवल धर्म...

Galgotias University ने शोध और नवाचार में उत्कृष्ट योगदान के लिये शिक्षकों और शोधार्थियों का किया सम्मान

गलगोटिया विश्वविद्यालय के अंतर्गत संचालित यूनिवर्सिटी सेंटर ऑफ रिसर्च एंड डेवलपमेंट द्वारा 11 जनवरी, 2022 को द्वितीय शोध एवं नवाचार पुरस्कार समारोह का आयोजन...

प्रांतीय ब्राह्मण सम्मेलन में बोले- पंडित सुनील भराला “जो ब्राह्मण हित में कार्य करेगा वही राज्य में राज करेगा”

गाजियाबाद: पंडित सुनील भराला  ने  कहा कि उत्तर प्रदेश देश का एक विशाल राज है यहां रहने वाले पदाधिकारी को अपने राज्य में महत्वपूर्ण...

बुधवार को पूर्वोत्तर रेलवे गोरखपुर जोन के द्वारा ( जेड आर यू सी सी) सदस्यों की 109 वीं बैठक संपन्न हुई

गोरखपुर यूपी: रेल मंत्रालय के निर्देशानुसार एक मीटिंग पूर्वोत्तर रेलवे गोरखपुर जोन के द्वारा क्षेत्रीय रेल उपयोगकर्ता परामर्श दात्री समिति ( जेड आर यू...

Recent Comments