Saturday, August 13, 2022
Home International तालिबान का पूरे अफगानिस्तान पर कब्जा , अफगान नागरिकों को भारत...

तालिबान का पूरे अफगानिस्तान पर कब्जा , अफगान नागरिकों को भारत लाने की कवायद शुरू

तालिबान ने पूरे अफगानिस्तान पर अपना कब्जा कर लिया है. वहां अफरा तफरी का माहौल है. अफगान नागरिक अपने ही देश से बच निकलने के लिए इधर उधर भाग रहे हैं. ऐसे में भारत ने अफगान नागरिकों के लिए ‘ई-आपातकालीन वीजा’ की नई श्रेणी की घोषणा की है. अफगानिस्तान में सभी देश अपने-अपने नागरिकों को सुरक्षित वापस लाने की कवायद में जुटे हुए हैं|

गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ने बताया है, ‘’केंद्रीय गृह मंत्रालय ने अफगानिस्तान की मौजूदा स्थिति को देखते हुए वीजा प्रावधानों की समीक्षा की है.’’ उन्होंने कहा, ‘’भारत में प्रवेश के लिए फास्ट-ट्रैक वीज़ा आवेदनों के लिए ‘ई-आपातकालीन एक्स-विविध वीज़ा’ नामक इलेक्ट्रॉनिक वीज़ा की एक नई श्रेणी शुरू की गई है.’’ भारत उन सभी अफगान नागरिकों को वीजा जारी करेगा जो विभिन्न विकास परियोजनाओं और गतिविधियों में सहयोग रहे थे|

जो अफगानिस्तान छोड़ना चाहते हैं, उनको भारत लाएंगे- विदेश मंत्रालय

इससे पहले कल अफगानिस्तान के ताजा घटनाक्रम पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए विदेश मंत्रालय ने कहा, “हम अफगान सिख और हिंदू समुदायों के प्रतिनिधियों के साथ लगातार संपर्क में हैं. हम उन लोगों की भारत वापसी के लिए सुविधा मुहैया कराएंगे जो अफगानिस्तान छोड़ना चाहते हैं.” उन्होंने कहा कि कई ऐसे अफगान भी हैं जो पारस्परिक विकास, शैक्षिक और लोगों से लोगों के बीच के संपर्क के प्रयासों को बढ़ावा देने में भारत के सहयोगी रहे हैं और भारत उनके साथ खड़ा रहेगा.

 

सी-17 विमान ने काबुल से उड़ान भरी

वहीं, आज सुबह भारतीय वायुसेना के सी-17 विमान ने काबुल से 120 से अधिक भारतीय अधिकारियों के साथ उड़ान भरी है. कर्मचारियों को कल देर शाम हवाई अड्डे के सुरक्षित इलाकों में सुरक्षित पहुंचा दिया गया था. सूत्रों ने बताया है कि अफगानिस्तान में कई भारतीय जो भारत वापस लौटना चाहते हैं वे सुरक्षित क्षेत्र में हैं और उन्हें एक या दो दिन में सुरक्षित भारत वापस लाया जाएगा|

अफ़ग़ानिस्तान की मौज़ूदा स्थिति भारत के लिए चिंता का विषय

अफ़गानिस्तान पर UNSC की आपातकालीन बैठक के दौरान भारत के राजदूत टीएस त्रिमूर्ति ने कहा कि अफ़ग़ानिस्तान की मौज़ूदा स्थिति भारत के लिए चिंता का विषय है. अफ़ग़ानिस्तान में पुरुष, महिलाएं और बच्चे डर के साए में जी रहे हैं. वे सभी लोग अपने भविष्य को लेकर अनिश्चित है|

 

RELATED ARTICLES

आरजेएस सकारात्मक भारत- उदय राष्ट्रीय सम्मान 2022 का दिल्ली चैप्टर संपन्न- बिहार, झारखंड और मध्य प्रदेश में तैयारी शुरू

नई दिल्ली: राम जानकी संस्थान आरजेएस नई दिल्ली के राष्ट्रीय संयोजक उदय मन्ना और तपसिल जाति आदिबासी प्रक्टन्न सैनिक कृषि विकास शिल्पा केंद्र ,पश्चिम...

नोएडा इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी की वाइस चांसलर प्रो.(डॉ.) उमा भारद्वाज सेखास बातचीत वरिष्ठ पत्रकार बिपुल कुमार के साथ..

सवाल - नोएडा इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी प्लेसमेंट के मामले में दूसरे यूनिवर्सिटी से कैसे अलग है? नोएडा इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी में प्लेसमेंट को लेकरप्रो.(डॉ.)उमा भारद्वाज ने कहा...

कला भारती फाउंडेशन ने आयोजित किया बूस्टर वैक्सीनेशन कैम्प

फरीदाबाद: इम्पीरियल ऑटो इंडस्ट्रीज लिमिटिड कंपनी के द्वारा कोरोना की ऐतिहातन बूस्टर डोज के लिए कला भारती फाउंडेशन की ओर से एक वैक्सिनेशन कैंप लगाया...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

आरजेएस सकारात्मक भारत- उदय राष्ट्रीय सम्मान 2022 का दिल्ली चैप्टर संपन्न- बिहार, झारखंड और मध्य प्रदेश में तैयारी शुरू

नई दिल्ली: राम जानकी संस्थान आरजेएस नई दिल्ली के राष्ट्रीय संयोजक उदय मन्ना और तपसिल जाति आदिबासी प्रक्टन्न सैनिक कृषि विकास शिल्पा केंद्र ,पश्चिम...

नोएडा इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी की वाइस चांसलर प्रो.(डॉ.) उमा भारद्वाज सेखास बातचीत वरिष्ठ पत्रकार बिपुल कुमार के साथ..

सवाल - नोएडा इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी प्लेसमेंट के मामले में दूसरे यूनिवर्सिटी से कैसे अलग है? नोएडा इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी में प्लेसमेंट को लेकरप्रो.(डॉ.)उमा भारद्वाज ने कहा...

कला भारती फाउंडेशन ने आयोजित किया बूस्टर वैक्सीनेशन कैम्प

फरीदाबाद: इम्पीरियल ऑटो इंडस्ट्रीज लिमिटिड कंपनी के द्वारा कोरोना की ऐतिहातन बूस्टर डोज के लिए कला भारती फाउंडेशन की ओर से एक वैक्सिनेशन कैंप लगाया...

कला भारती फाउंडेशन का एक और सफल वैक्सिनेशन कैंप

27 जुलाई 2022 को कला भारती फाउंडेशन के माध्यम से फरीदाबाद जिले में स्थित इंपीरियल ऑटो इंडस्ट्रीज लिमिटेड कंपनी द्वारा अपनी दूसरी शाखा में...

Recent Comments